कोरोना से सामना (अंतिम भाग) किशनलाल शर्मा द्वारा जीवनी में हिंदी पीडीएफ

कोरोना से सामना (अंतिम भाग)

किशनलाल शर्मा मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी जीवनी

और अंत मे मैं अस्पताल जाने को राजी हो गया"कैसे आना है"आपको लेने एम्बुलेंस जाएगी।आपको ठीक होते ही घर भेज दिया जाएगा।आपको छोड़ने भी एम्बुलेंस जाएगी।।आप बताये कब भेज दू एम्बुलेंस?"2 बजे,"मैं बोला,"और क्या लाना है मुझे?""कुछ ज्यादा नही।बेग ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प