कहानी भोला की - (अंतिम भाग ) राज कुमार कांदु द्वारा हास्य कथाएं में हिंदी पीडीएफ

कहानी भोला की - (अंतिम भाग )

राज कुमार कांदु मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी हास्य कथाएं

पुलिस चौकी से निकल कर भोला एक पार्क के सामने लगे बेंच पर सो गया ।सुबह देर से नींद खुली थी । उठकर अब उसे कुछ काम धाम करने की चिंता सताने लगी । वहीँ बैठे हुए सोचने लगा ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प