कोरोना प्यार है - 6 Jitendra Shivhare द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

कोरोना प्यार है - 6

Jitendra Shivhare मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी प्रेम कथाएँ

(6) "आओ मंयक। मैं तुम्हारा ही इंतजार कर रही थी।" सुजाता ने कहा। "कहिये आपने मुझे यहां काॅफी हाउस क्यों बुलाया?" मंयक ने पुछा। "मंयक। मुझे सोनिया और तुम्हारे बीच के मनमुटाव की खब़र है।" "नहीं सुजाता! ऐसी कोई ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प