असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 17 Yashvant Kothari द्वारा हास्य कथाएं में हिंदी पीडीएफ

असत्यम्। अशिवम्।। असुन्दरम्।।। - 17

Yashvant Kothari मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी हास्य कथाएं

17 इन्हीं विकट परिस्थितियों में नेता जी अपने महल नुमा - डाईगं रूम में मालिश वाले का इन्तजार कर रहे थे । वे आज गम्भीर तो थे,मगर आश्वत भी । मालिशिये के आने की आहट से उनकी तन्द्रा टूटी ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प