आत्मव्यक्ति - काव्य संग्रह Abhaya Sinha द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

आत्मव्यक्ति - काव्य संग्रह

Abhaya Sinha द्वारा हिंदी कविता

फुटानी बाबुजी के दलानी मेंका उ फुटानी रहे बाबुजी के दलानी में,भर हीक खाई के, फटफटिया घुमाई के।यारन सभे आगे पीछे, गौगल चमकाई के,मोबाईल से सेल्फी लेवे गुटखा दबाई के।का उ फुटानी..... बितल उमरिया आईल दोपहरीया,एके से चार भइनी ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प