चार बीघा खेत राजेश ओझा द्वारा क्लासिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

चार बीघा खेत

राजेश ओझा द्वारा हिंदी क्लासिक कहानियां

दल थम्हन शुकुल ने जैसे ही जलेबी को दही में लपेटा था कि मोबाइल बज उठी..अनमने होकर जलेबी को दोने में रखा और मोबाइल निकाला..अन्दाजा सही निकला..फोन बड़े बेटे का ही था..आज सभी बेटों ने फोन किया था"हलो..!" दल ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प