पापा की मुक्ति Hansa Deep द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

पापा की मुक्ति

Hansa Deep मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी सामाजिक कहानियां

कहानी पापा की मुक्ति डॉ. हंसा दीप घनन-घनन फोन की घंटी बजी और जैसे घर का सब कुछ स्वाहा हो गया। हँसता-चहकता वह घर करुण क्रन्दन से भर गया। पापा को ऑफिस में हार्ट अटैक का दौरा पड़ा ...और पढ़े