चुनिंदा लघुकथाएँ - 4 Lajpat Rai Garg द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

चुनिंदा लघुकथाएँ - 4

Lajpat Rai Garg मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

लाजपत राय गर्ग की चुनिंदा लघुकथाएँ (4) सोचा, थोड़ा पुण्य कमा लें... पुनीत सुबह सैर को जा रहा था। मेन रोड पर चार-पाँच युवक आने-जाने वालों को चाय और बिस्कुट लेने के लिये आग्रह कर रहे थे। उन्होंने सड़क ...और पढ़े