प्यार की साज़िश Ajay Kumar Awasthi द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

प्यार की साज़िश

Ajay Kumar Awasthi मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी प्रेम कथाएँ

"तुम अपना... रंजो ग़म अपनी परेशा...नी मुझे दे दो....." साहिर साहब का ये गीत रेडियो में बज रहा था । और वो उदास अपनी बालकनी में बैठा दूर खेलते बच्चों को देख रहा था । जबसे उसकी जिंदगी से ...और पढ़े