सुनो आएशा - 4 Junaid Chaudhary द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

सुनो आएशा - 4

Junaid Chaudhary मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

आयशा ने अपना हाथ आगे बढ़ा दिया।मेरे रिंग पहनाते ही उसने खुशी से मुझे हग कर लिया।।उसका यूं हग करना मेरे लिए सरप्राइज था।।उसका फूल सा जिस्म कुछ देर मेरी बाहों में यू ही समाया रहा और हम दोनों ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प