चुड़ैल का इंतकाम - भाग - 7 (अंतिम भाग) Devendra Prasad द्वारा डरावनी कहानी में हिंदी पीडीएफ

चुड़ैल का इंतकाम - भाग - 7 (अंतिम भाग)

Devendra Prasad मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी डरावनी कहानी

अचानके चुड़ैल जोर जोर से हंसने लग जाती है। हंसते हंसते फिर रोने लग जाती है। थोड़ी देर में जब वह शांत हुई तो बोलती है- "मेरा नाम मेहजबीन शेख है। मैं यहां से 150 किलोमीटर दूर स्थित किशनपुर ...और पढ़े