रिसता हुआ अतीत Rajesh Bhatnagar द्वारा महिला विशेष में हिंदी पीडीएफ

रिसता हुआ अतीत

Rajesh Bhatnagar Verified icon द्वारा हिंदी महिला विशेष

लाजो बेजान कदमों से चलती हुई अपना थका बोझिल शरीर लिए धम्म से कुर्सी पर बैठ गई । उसके ज़हन मं छटपटाती एक ज़ख्मी औरत चीख-चीखकर जैसे उसे धिक्कार रही थी, “क्यों बचाया तूने दीपक को ? आखिर एक ...और पढ़े