शान्ति Dr Vatsala J Pande द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

शान्ति

Dr Vatsala J Pande द्वारा हिंदी लघुकथा

ओफ्फो शान्ति तुम कितनी दुष्ट हो ,मैं कितने वर्षो से सिर्फ ये चाह रहा हूँ की तुम कुछ पल, दिन मेरे साथ गुजारो, पर नहीं तुम तो मुझसे कोसो दूर भागती हो जैसे मैं कोई जिन हु और तुम्हे ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प