शुग़ल Saadat Hasan Manto द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

शुग़ल

Saadat Hasan Manto मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

हम में से कुछ किसान थे और कुछ मज़दूरी पेशा, चूँकि पहाड़ी देहातों में रुपय का मुँह देखना बहुत कम नसीब होता है। इस लिए हम सब ख़ुशी से छः आने रोज़ाना पर सारा दिन पत्थर हटाते रहते थे। ...और पढ़े