पल जो यूँ गुज़रे - 16 Lajpat Rai Garg द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

पल जो यूँ गुज़रे - 16

Lajpat Rai Garg मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

जाह्नवी के इन्टरव्यू की तिथि से चार दिन पूर्व की बात है। मुँह—अँधेरे निर्मल की नींद खुल गयी। कारण जाह्नवी को लगातार तीन—चार बहुत जोर की छींकें आर्इं। निर्मल ने गद्दे से उठते हुए बेड के नज़दीक जाकर पूछा ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प