हिमाद्रि - 19 Ashish Kumar Trivedi द्वारा डरावनी कहानी में हिंदी पीडीएफ

हिमाद्रि - 19

Ashish Kumar Trivedi मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी डरावनी कहानी

हिमाद्रि(19)उमेश ध्यानमग्न बैठा था। डॉ निरंजन उसके पास आकर बोले। अब आपका यह बंगला प्रेत से मुक्त हो गया है। अब किसी तरह के डर की ज़रूरत नहीं। हिमाद्रि अब प्रेत लोक चला गया है। दुर्गा बुआ पास ही ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प