शादाँ Saadat Hasan Manto द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

शादाँ

Saadat Hasan Manto मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

ख़ान बहादुर मोहम्मद असलम ख़ान के घर में ख़ुशीयां खेलती थीं....... और सही माअनों में खेलती थी। उन की दो लड़कियां थीं। एक लड़का। अगर बड़ी लड़की की उम्र तेराह बरस की होगी तो छोटी की यही ग्यारह साढ़े ...और पढ़े