कमसिन - 1 Seema Saxena द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

कमसिन - 1

Seema Saxena Verified icon द्वारा हिंदी प्रेम कथाएँ

न तौलना, न मापना, न गिनना कभी हूँ गर्भगृह में समाया निशब्द, निश्छल, निस्वार्थ, अडिग पवित्र प्रेम मैं ! ! होस्टल के कमरे में मनु ने हिलाकर उसे जगाते हुए कहा था, उठो भई, जाना नहीं है क्या ? राशी ने एकदम ...और पढ़े