राख़ Ajay Amitabh Suman द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

राख़

Ajay Amitabh Suman Verified icon द्वारा हिंदी कविता

(१) ये कविता मैंने आदमी की फितरत के बारे में लिखा है . आदमी की फितरत ऐसी है कि इसकी वासना मृत्यु पर्यन्त भी बरकरार रहती है. ये मृत्यु के बाद भी ईक्छा करता है कि मारने के ...और पढ़े