वर्दी वाली बीवी - 1 Arpan Kumar द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

वर्दी वाली बीवी - 1

Arpan Kumar मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

तेलंगाना एक्सप्रेस लेट हो गई है। पौने दस बजे की जगह अब पौने बारह में चलेगी। मैं वेटिंग रूम में बैठा हुआ था। सहसा, एक चिर-परिचित चेहरे पर मेरी नज़र गई। क्षणांश में मैं जान पाया कि ये त्रिलोकी ...और पढ़े