तब राहुल सांकृत्यायन को नहीं पढ़ा था - 4 Arpan Kumar द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

तब राहुल सांकृत्यायन को नहीं पढ़ा था - 4

Arpan Kumar मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

उसके पिता उस समय गाँव में नहीं थे। अपने बैंक की ओर से ऑडिट करने वे बक्सर तरफ़ के गाँवों में थे। रात भर में ही लाली देवी की हालत ऐसी हो गई जैसे उसका दस किलो वज़न घट ...और पढ़े