कमीने दोस्त ANKIT J NAKARANI द्वारा पत्र में हिंदी पीडीएफ

कमीने दोस्त

ANKIT J NAKARANI द्वारा हिंदी पत्र

सभी लोग को सिर्फ दो टोपिक मिल गये है एक दोस्त और दूसरा प्यार इसके आलावा कोई कुछ लिखता ही नहीं साला में भी कुछ ऐसा ही लिख रहा हु अपने ही पैर पे कुल्हाड़ी मार रहा हु कभी ...और पढ़े