तेरा ज़िक्र Suyogya Singh aviadeez द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

तेरा ज़िक्र

Suyogya Singh aviadeez द्वारा हिंदी कविता

गहरे जख़्म मिलेंगे , इल्म था , दानिस्ता दिल लगाया पर ।अंगारों पे पाँव रखे और इश्क़ को देखा छूकर ।।Gehre Zakhm Milenge , Ilm Tha , Daanistaa Dil Lagaya Par |Angaaron Pe Paanv Rakhe Aur Ishq Ko Dekha ...और पढ़े