तपते जेठ मे गुलमोहर जैसा - 21 Sapna Singh द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

तपते जेठ मे गुलमोहर जैसा - 21

Sapna Singh Verified icon द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

ये यही समय है... पूरे विश्व में आंतकवाद नामक फैले जहर का समय... दुनियंाँ का कोई कोना न तो इससे बचा है न कोई कौम। हर एक अपनी कौम का वर्चस्व चाहता है... उसे पीड़ित बताता है और प्रतिशोध ...और पढ़े