भावनाओं का बाज़ारीकरण Lakshmi Narayan Panna द्वारा पत्रिका में हिंदी पीडीएफ

भावनाओं का बाज़ारीकरण

Lakshmi Narayan Panna मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी पत्रिका

भावनाओं का बाजारीकरणभावनाओं का मानव जीवन में बड़ा ही महत्व है । भाव या इमोशन्स जीवन के वे अंग हैं जिनके बग़ैर जीवन ब्लैक एंड व्हाइट चलचित्र मात्र रह जाता है । मनुष्य के इमोशन ही हैं जो नीरस ...और पढ़े