बेगुनाह गुनेहगार 17 Monika Verma द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

बेगुनाह गुनेहगार 17

Monika Verma द्वारा हिंदी लघुकथा

सुहानी अब शोगता बन चुकी है। इंस्पेक्टर की टीम के साथ सुहानी अचानक से ब्रिजेश के पास पहुची। इंस्पेक्टर ने डोर बेल बजाई। ब्रिजेश ने दरवाजा खोला।इंस्पेक्टर: हमे आपकी wife मिल गई है। एक एक्सीडेंट केे बाद इलाज ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प