याद (कविता संग्रह ) Ravi kumar bhatt द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

याद (कविता संग्रह )

Ravi kumar bhatt द्वारा हिंदी कविता

१-याद:-जब नेत्र खुलते है मेरेजब मधुर भोर हो जाती हैतब याद तुम्हारी आती है!प्रिये याद तुम्हारी आती है!फूल खील उठते है बागों मैंभंवरे गाने लगते है सात सुरों के रागों मेंजब कोयल अपना मधुर गीत सुनाती है!तब याद तुम्हारी ...और पढ़े