यात्रा, मदारी, सँपेरे और साँप BALRAM AGARWAL द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

यात्रा, मदारी, सँपेरे और साँप

BALRAM AGARWAL द्वारा हिंदी सामाजिक कहानियां

अभिजात्य वर्ग के कुछ लोगों में पसरे अस्पृश्यता के छद्म को निहायत खिलंदड़े अंदाज में उतारकर सामने रखती कहानी। इस कहानी का नायक शर्मा स्वयं सवर्ण होने के बावजूद ट्रेन की सीट पर फैलकर बैठे तिलकधारी पंडित-जैसे ...और पढ़े