सपना शेष sangeeta sethi द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

सपना शेष

sangeeta sethi मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

यह कहानी प्रतियोगिता के लिए है । शौचालयों की समस्या पर लिखी गई यह कहानी सोचने मजबूर करती है खासकर महिलाओं को जिनके पास अति आधुनिक शौचालय हैं पर उनके बारे में सोचिये जिनके पास शौचालय नहीं है

अन्य रसप्रद विकल्प