बंद कमरे की रोशनी Hanif Madaar द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

बंद कमरे की रोशनी

Hanif Madaar द्वारा हिंदी लघुकथा

एक समुदाय विशेष के द्वारा किसी भी भाषा पर अपनी बपौती समझ, समाज में साम्प्रदायिक लड़ाई- झगड़े करवाकर लोगों के अन्दर अनचाहा भय पैदाकर समाज की शान्ति भंग करके अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने वाले वर्ग की नंगी दास्ताँ

अन्य रसप्रद विकल्प