भाषायी विस्थापन kaushlendra prapanna द्वारा मानवीय विज्ञान में हिंदी पीडीएफ

भाषायी विस्थापन

kaushlendra prapanna द्वारा हिंदी मानवीय विज्ञान

भाषायी विस्थापन के दौर में कौशलेंद्र प्रपन्न व्यक्ति के साथ भाषा भी विस्थापित होती है। व्यक्ति जीवन यापन के लिए या फिर बेहतर जिंदगी के लिए गांव,देहात,जेवार छोड़ कर शहरों, महानगरों की ओर पलायन करता है। पलायन कहें या विस्थापन ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प