मुझे पैसे नहीं ख़ुशी चाहिये…. Piyush Goel द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

मुझे पैसे नहीं ख़ुशी चाहिये….

Piyush Goel मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

मुझे पैसे नहीं ख़ुशी चाहिये…. एक दिन अचानक एक भिखारी सेठ जी की दुकान पर आया, सेठ ने जैसे ही भिखारी को पैसे दिए, भिखारी ने पैसे लेने से माना कर दिया नहीं साहेब मुझे पैसे नहीं मुझे ख़ुशी ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प