अग्निजा - 2 Praful Shah द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

अग्निजा - 2

Praful Shah द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

प्रकरण 2 कितने लंबे-घने, काले रेशम सरीखे चमकदार बाल...जनार्दन के मुंह से ये शब्द सुनने के लिए अधीर हो चुकी यशोदा अपनी प्रसव पीड़ा भी भूल चुकी थी। ‘बेटी होगी तो पति खुश होंगे...पर सास नाराज हो जाएगी, लेकिन ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प