क़ीमे की बजाय बोटियाँ--(सहादत हसन मंटो की कहानी) Saroj Verma द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

क़ीमे की बजाय बोटियाँ--(सहादत हसन मंटो की कहानी)

Saroj Verma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी सामाजिक कहानियां

स्टोरीलाइन एक मद्रासी डॉक्टर के दूसरे प्रेम-विवाह की त्रासदी पर आधारित कहानी। वह डॉक्टर बेहद बेतकल्लुफ़ था। अपने दोस्तों पर बेहिसाब ख़र्च किया करता था। तभी उसकी एक औरत से दोस्ती हो गई जो उस से पहले अपने तीन ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->