अनसुलझा प्रश्न (भाग 10) किशनलाल शर्मा द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

अनसुलझा प्रश्न (भाग 10)

किशनलाल शर्मा मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

30--चेतावनी"आज फिर पीकर आये हो?"पति को लड़खड़ाते देखकर कमला बोली थी।"हां,"दीना बोला,"तू कौन है मुझे रोकने वाली?""तेरी जोरू,"कमला बोली,"घर खर्च को देने के लिए तो तुम्हारे पास पैसे नही होते।लेकिन दारू पीने के लिए रोज पैसे आ जाते है।"इसी ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->