रुपये, पद और बलि - 12 - अंतिम भाग S Bhagyam Sharma द्वारा जासूसी कहानी में हिंदी पीडीएफ

रुपये, पद और बलि - 12 - अंतिम भाग

S Bhagyam Sharma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी जासूसी कहानी

अध्याय 12 सुधाकर के रिवाल्वर लेने से जोसेफ पसीने से तरबतर हो गया। उसकी जुबान और उसका गला सूख गया। "सु.... सुधाकर यह क्या है ?" "मालूम नहीं ? यह रिवाल्वर है। तुम्हारी आत्मा को शांति नहीं चाहिए क्या ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प

-->