गुनाहों का देवता - 31 Dharmveer Bharti द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

गुनाहों का देवता - 31

Dharmveer Bharti मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

भाग 31 ''सुधा कहाँ गयी?'' चन्दर ने नाचते हुए स्वर में कहा। ''गयी है शरबत बनाने।'' गेसू ने चुन्नी से सिर ढँकते हुए और पाँवों को सलवार से ढँकते हुए कहा। चन्दर इधर-उधर बक्स में रूमाल ढूँढऩे लगा। ''आज ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प