नैनं छिन्दति शस्त्राणि - 39 Pranava Bharti द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

नैनं छिन्दति शस्त्राणि - 39

Pranava Bharti मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

39 कुछ पलों में ही दया एक हाथ में सुम्मी की गुल्लक तथा दूसरे में गुल्लक की चाबी लेकर बाहर आई | चारपाई पर बैठते हुए बोली ; “चलो, उठो –हमारे पास काम शुरू करने के लिए पैसे हैं ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प