मौत का खेल - भाग-15 Kumar Rahman द्वारा जासूसी कहानी में हिंदी पीडीएफ

मौत का खेल - भाग-15

Kumar Rahman मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी जासूसी कहानी

पुतला मेजर विश्वजीत की पार्टी में खलल पड़ गया था। उसका मूड बुरी तरह से ऑफ था। राजेश शरबतिया उसे शांत करने की कोशिश कर रहा था। उसने मेजर विश्वजीत को गले से लगा रखा था और धीरे-धीरे उस ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प