वो ख़्वाब था या हक़ीक़त...... Saroj Verma द्वारा रोमांचक कहानियाँ में हिंदी पीडीएफ

वो ख़्वाब था या हक़ीक़त......

Saroj Verma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी रोमांचक कहानियाँ

कभी कभी वो रात और वो मंज़र याद आता है तो मेरा दिल दहल उठता है आखिर वो क्या था?वो मह़ज मेरा कोई ख्वाब था या हक़ीक़त ,जिसे मैं आज तक भूल नहीं सका,जब कभी वो वाक्या मेरा सामने ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प