गरीबी और झूठ ( व्यंग्य ) Alok Mishra द्वारा हास्य कथाएं में हिंदी पीडीएफ

गरीबी और झूठ ( व्यंग्य )

Alok Mishra मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी हास्य कथाएं

गरीबी और झूठ मंडी के पास एक हम्माल दीनू और ठेला चलाने वाला छोटू कुछ देर बैठे थे । दीनू बोला "आज तो मंडी में माल ही नहीं आया, काम है ही नहीं। ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प