सख़्त पिता praveen singh द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

सख़्त पिता

praveen singh द्वारा हिंदी लघुकथा

अम्बेडकर पार्क, जो कि गोरखपुर में तारामंडल रोड़ पर है| शाम का वक्त था और पार्क में काफी चहल पहल थी| उसी पार्क में एक बेंच पर बैठी रिया बार - बार अपनी घड़ी की तरफ देखे जा रही ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प