प्रतिशोध--भाग(२) Saroj Verma द्वारा प्रेम कथाएँ में हिंदी पीडीएफ

प्रतिशोध--भाग(२)

Saroj Verma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी प्रेम कथाएँ

उधर गुरु कुल में__ चूड़ामणि...!तुमने अत्यन्त घृणित अपराध किया है, तुमने एक स्त्री को स्पर्श किया, आचार्य शिरोमणि बोले।। नहीं.. आचार्य,ये पाप नहीं है,वो स्त्री अत्यन्त वृद्ध थी,यदि मैं उसे नदी में डूबते हुए ना बचाता तो ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प