लिखी हुई इबारत - 5 Jyotsana Kapil द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

लिखी हुई इबारत - 5

Jyotsana Kapil मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

9 - दंडगाड़ी से उतरकर , बहुत आत्म विश्वास के साथ धीरज ने अपना चेहरा मोबाइल की स्क्रीन में देखा। नोटों से भरे हुए सूटकेस को हल्के से थपथपाया।आज एक और तथाकथित ईमानदार अधिकारी के ईमान को खरीदने के ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प