दोस्त की जुबानी महेश रौतेला द्वारा रोमांचक कहानियाँ में हिंदी पीडीएफ

दोस्त की जुबानी

महेश रौतेला द्वारा हिंदी रोमांचक कहानियाँ

दोस्त की जुबानी:बचपन में एक बार हल चलाने का शौक हुआ।अतः सुबह उठकर हाथ मुँह धो, बैलों को खेत में ले गया।वातावरण खुशनुमा था।घराट पर दो लोग आ चुके थे। खेत के पास बांज के दो पेड़, हिसालु की ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प