दो बाल्टी पानी - 16 Sarvesh Saxena द्वारा हास्य कथाएं में हिंदी पीडीएफ

दो बाल्टी पानी - 16

Sarvesh Saxena मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी हास्य कथाएं

ठकुराइन ने मिश्राइन के घर का दरवाजा खटखटाते हुए कहा, "अरे मिश्राइन… खोलो ठकुराइन बोल रहे हैं, नंदू जो अभी जाकर बिस्तर पर सही से लेट भी नहीं पाया था, वह न चाहते हुए भी दरवाजा खोलने उठकर आया, ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प