माँ एक गाथा: भाग : 5 Ajay Amitabh Suman द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

माँ एक गाथा: भाग : 5

Ajay Amitabh Suman मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी कविता

दादी की ममता है न्यारी ,पोतो को लगती है प्यारी ,लंगड़ लंगड़ के भी चल चल के ,पोते पोती को हँसाती है ,धरती पे माँ कहलाती है। कितना बड़ा शिशु हो जाए ,फिर भी माँ का स्नेह वो पाए,तब ...और पढ़े