दो बाल्टी पानी - 13 Sarvesh Saxena द्वारा हास्य कथाएं में हिंदी पीडीएफ

दो बाल्टी पानी - 13

Sarvesh Saxena मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी हास्य कथाएं

करीब घंटे भर बाद मिश्राइन और वर्माइन का नंबर आया, दोनों ने अपनी-अपनी बाल्टी भरी और मुंह लटकाए घर की ओर चली आईं |मिश्राइन(घूंघट को नीचे की ओर खिंचते हुए) -" गांव के मर्दों को तो जैसे कोई लाज ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प