दो बाल्टी पानी Sarvesh Saxena द्वारा हास्य कथाएं में हिंदी पीडीएफ

दो बाल्टी पानी

Sarvesh Saxena मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी हास्य कथाएं

"अरे नंदू… उठ के जरा देख घड़ी में कितना टाइम हो गया है " मिश्राइन ने चिल्ला कर कहा|"अरे मम्मी सोने भी नहीं देती सोने दो ना" नंदू अपनी दोनों बाहें और मुंह फैलाते हुए बोला l"हे भगवान, आजकल ...और पढ़े


अन्य रसप्रद विकल्प