हिमाद्रि - 12 Ashish Kumar Trivedi द्वारा डरावनी कहानी में हिंदी पीडीएफ

हिमाद्रि - 12

Ashish Kumar Trivedi मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी डरावनी कहानी

हिमाद्रि(12)बूढ़े को जब होश आया तो दिन निकल चुका था। कुछ क्षण वह अपने आसपास के माहौल को भांपने का प्रयास करता रहा। कुछ ही समय में उसे रात की घटना याद आई। अपनी बेटी का खयाल आते ही ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प